पिंपल्स को प्राकृतिक रूप से कैसे हटाएं | 5 आसान और असरदार घरेलू उपचार

पिंपल्स को प्राकृतिक रूप से कैसे हटाएं | 5 आसान और असरदार घरेलू उपचार

पिंपल्स काफी कष्टप्रद हो सकते हैं, और सबसे बुरी बात यह है कि वे हमेशा एक महत्वपूर्ण घटना से पहले दिखाई देते हैं! ये न सिर्फ आपके कॉन्फिडेंस को कम करते हैं बल्कि सही तरीके से इलाज न करने पर चेहरे पर निशान भी छोड़ जाते हैं।

जबकि बाजार में पिंपल्स के लिए कई स्पॉट उपचार उपलब्ध हैं, वे अक्सर त्वचा की लालिमा, जलन और सूखापन जैसे कुछ साइड इफेक्ट्स का कारण बन सकते हैं। इसलिए ज्यादातर लोग पिंपल्स के इलाज के लिए प्राकृतिक उपचारों का सहारा लेते हैं।

इसलिए, आपके लिए इसे आसान बनाने के लिए, हमने पिंपल्स को दूर करने के लिए 5 त्वरित और प्रभावी घरेलू उपचार सूचीबद्ध किए हैं। अब चलिए शुरू करते हैं!


पिंपल्स दूर करने के 5 आसान और असरदार घरेलू नुस्खे


1, एलोवेरा का जादू

एलोवेरा एक उष्णकटिबंधीय पौधा है जो कैक्टस जैसा दिखता है। इसकी पत्तियां एक पारदर्शी जेल का उत्पादन करती हैं, जिसका उपयोग विभिन्न औषधीय और त्वचा देखभाल उद्देश्यों के लिए किया जाता है। सदियों से एलोवेरा एक लोकप्रिय सौंदर्य और स्वास्थ्यवर्धक घटक रहा है। और जब पिंपल्स से लड़ने की बात आती है, तो यह जादू की तरह काम करता है!

अध्ययनों के अनुसार, एलोवेरा जेल को सीधे त्वचा पर लगाने से पिंपल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने और सूजन को कम करने में काफी मदद मिल सकती है।

अपने एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुणों के कारण, एलोवेरा जेल पिंपल्स से लड़ने और रोकने के लिए तैयार कई क्रीम और लोशन में मुख्य घटक है।

मुंहासों के इलाज के लिए एलोवेरा जेल लगाने का तरीका यहां बताया गया है:

  • एलो वेरा जेल को चम्मच की मदद से खुरचें।
  • इसे अपने पिंपल्स पर लगाएं और लगभग 20-30 मिनट के लिए छोड़ दें। आप इसे रात भर भी छोड़ सकते हैं क्योंकि यह त्वचा पर बहुत हल्का होता है।
  • इसे ठंडे पानी से धो लें।

2, बचाव के लिए टी ट्री ऑयल!


टी ट्री ऑयल एक आवश्यक तेल है जो मेलेलुका अल्टरनिफोलिया पौधे की पत्तियों से निकाला जाता है। इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं और यह पिंपल्स के इलाज के लिए एक प्रभावी घरेलू उपचार के रूप में काम करता है।

एक अध्ययन के अनुसार, पेड़ का तेल पिंपल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को प्रभावी ढंग से मार सकता है और सूजन को भी कम कर सकता है।

एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि एक जेल जिसमें केवल 5% टी ट्री ऑयल होता है, वह बेंज़ोयल पेरोक्साइड जैसे पिंपल्स के इलाज में भी प्रभावी होता है, जो एक सामान्य पिंपल्स की दवा है।

यहां बताया गया है कि आप पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए टी ट्री ऑयल का उपयोग कैसे कर सकते हैं:

  • जोजोबा तेल जैसे हल्के तेल में 1 बूंद टी ट्री ऑयल मिलाएं।
  • इस घोल में एक रुई डुबोएं और पिंपल्स पर लगाएं।
  • इसे सूखने दें और फिर सुखदायक लोशन लगाएं।

इसके आवेदन को दिन में एक या दो बार दोहराएं।

इसे भी देखें – स्वस्थ त्वचा के लिए सर्वश्रेष्ठ बेबी स्किन केयर उत्पाद: समीक्षा और ख़रीदना गाइड


3, हरी चाय की अच्छाई


ग्रीन टी अपने विभिन्न लाभों के कारण लोगों के बीच एक लोकप्रिय स्वास्थ्य पेय है। और जब बात पिंपल्स से लड़ने की आती है तो यह उतना ही फायदेमंद होता है! अध्ययनों के अनुसार, ग्रीन टी एंटीऑक्सिडेंट से भरी हुई है जो पिंपल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारती है और सूजन को भी कम करती है।

इसके अलावा, एक अन्य अध्ययन ने साबित कर दिया है कि त्वचा पर ग्रीन टी के अर्क की थोड़ी मात्रा (2%) लगाने से अत्यधिक सीबम उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है और इस तरह पिंपल्स को कम किया जा सकता है।

बाजार में उपलब्ध कई स्पॉट उपचारों में ग्रीन टी एक सक्रिय घटक है। इसके सबसे बड़े लाभों में से एक यह है कि यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है और शीर्ष पर लगाने पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

यहाँ पिंपल्स के इलाज के लिए ग्रीन टी लगाने का तरीका बताया गया है:

  • उबलते पानी में 1-2 चम्मच ग्रीन टी डालें।
  • इसे ठंडा होने दें और पानी को छान लें। फिर, इस मिश्रण में एक कॉटन पैड या कॉटन बड डुबोएं और इसे अपने पिंपल्स पर लगाएं।
  • आप इसे या तो 15-20 मिनट बाद धो सकते हैं या रात भर के लिए छोड़ भी सकते हैं।
  • इसके आवेदन को हर दिन दोहराएं। आप इसे अपने रेफ्रिजरेटर में एक हफ्ते तक स्टोर कर सकते हैं।

4, सेब साइडर सिरका समाधान


ऐप्पल साइडर सिरका, जैसा कि इसके नाम से पता चलता है, दबाए गए सेब से निकाला जाता है। यह एक लोकप्रिय सौंदर्य सामग्री है जो आपकी रसोई में आसानी से मिल सकती है।

एक अध्ययन के अनुसार सेब के सिरके में मौजूद एसिटिक एसिड मुंहासों और फुंसियों को कम करने में मदद कर सकता है। एक अन्य अध्ययन में पाया गया है कि सेब का सिरका पिंपल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को प्रभावी ढंग से मार सकता है।

पिंपल्स को कम करने और रोकने के लिए यहां सेब साइडर सिरका लगाने का तरीका बताया गया है:

  • एप्पल साइडर विनेगर को बराबर मात्रा में पानी के साथ पतला करें और इसे कॉटन पैड से अपनी त्वचा पर लगाएं। हालांकि, अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो सेब के सिरके में 2:1 के अनुपात में पानी मिलाएं।
  • इसे 3-4 मिनट तक बैठने दें और ठंडे पानी से धो लें।
  • चूंकि एप्पल साइडर विनेगर आपकी त्वचा को रूखा बना सकता है, इसलिए आप इसे धोने के बाद हाइड्रेटिंग और सुखदायक लोशन लगा सकते हैं।

चेतावनी: सेब के सिरके की प्रबल प्रकृति त्वचा में जलन और लालिमा पैदा कर सकती है। इसलिए, आपको इसे अपनी त्वचा पर लगाने से पहले हमेशा एक पैच टेस्ट करना चाहिए।

इसे भी देखें – चमक और स्वस्थ त्वचा के शीर्ष 8 हर्बल ब्यूटी केयर प्रोडक्ट्स-सीक्रेट


5, मुल्तानी मिट्टी (फुलर्स अर्थ) और दही फेस पैक


फुलर अर्थ एक खनिज युक्त मिट्टी है जिसका उपयोग त्वचा में अतिरिक्त तेल या सीबम के उत्पादन को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है और इस तरह पिंपल्स को रोकता है। पिंपल्स का एक प्रमुख कारण रोमछिद्रों का बंद होना है, जो त्वचा में अतिरिक्त तेल के कारण होता है।

जहां मुल्तानी मिट्टी त्वचा से अतिरिक्त तेल और अशुद्धियों को अवशोषित करने में फायदेमंद हो सकती है, वहीं दही दही में लैक्टिक एसिड आपके चेहरे से गंदगी और अशुद्धियों को हाइड्रेट रखने में मदद करता है।

मुल्तानी मिट्टी (फुलर्स अर्थ) और दही फेस पैक का उपयोग पिंपल्स को कम करने के लिए यहां किया गया है:

  • 2 टीस्पून मुल्तानी मिट्टी पाउडर में 2 टीस्पून दही मिलाकर फेस पैक बना लें।
  • इसे अपने चेहरे पर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसे गुनगुने पानी से धो लें।

मुल्तानी मिट्टी आपकी त्वचा को टाइट और ड्राई बना सकती है, इसलिए हम आपको मुल्तानी मिट्टी फेस पैक का उपयोग करने के बाद हाइड्रेटिंग मॉइस्चराइज़र लगाने की सलाह देते हैं।

इसे भी देखें – भारत में बच्चों के लिए सबसे अच्छा बेबी शैम्पू


FAQ – अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न


1, चेहरे पर मुंहासे क्यों होते हैं?

आमतौर पर पिंपल्स तब होते हैं जब अतिरिक्त तेल और मृत त्वचा कोशिकाओं के कारण त्वचा के छिद्र बंद हो जाते हैं। इसके अलावा, कुछ दवाएं, तनाव, हार्मोनल परिवर्तन और, खराब त्वचा देखभाल की आदतें आदि भी पिंपल्स का कारण बन सकती हैं।

2, पिंपल्स दूर होने में कितना समय लगता है?

जिन पिंपल्स में मवाद होता है, उन्हें ठीक होने में लगभग 4-6 सप्ताह लग सकते हैं। मवाद बैक्टीरिया का निर्माण है जो पिंपल्स का कारण बनता है। हालांकि, छोटे-छोटे पिंपल्स सिर्फ 3-4 दिनों में गायब हो सकते हैं।


निष्कर्ष


हमें उम्मीद है कि ये सरल लेकिन प्रभावी प्राकृतिक उपचार आपको पिंपल्स को कम करने और रोकने में मदद करेंगे। न केवल वे सस्ती और प्रभावी हैं, बल्कि वे किसी भी गंभीर दुष्प्रभाव का जोखिम भी नहीं उठाती हैं।

तो अब समय आ गया है कि आप अपने पिंपल्स को अलविदा कहें और बेदाग, ग्लोइंग स्किन दिखाएं! याद रखें, आपको इन उपायों का पालन करने में धैर्य और नियमित रूप से रहने की आवश्यकता है क्योंकि आप रातों-रात मुंहासों से छुटकारा नहीं पा सकते हैं।

Last update on 2022-12-10 / Affiliate links / Images from Amazon Product Advertising API

Leave a Comment